English     
 

एस.टी.पी योजना


एस.टी.पी योजना

एसटीपी योजना व्यावसायिक सेवाओं के निर्यात सहित प्रत्यक्ष माध्यम के रुप में अथवा आंकड़ा संचार के प्रयोग द्वारा क्म्प्युटर सॉफ्टवेयर के निर्यात तथा विकास हेतु 100% निर्यातोन्मुखी योजना (100% ईओयु) हैं । एसटीपी एक वास्तविक सॉफ्टवेयर विकास इकाई हो सकता हैं अथवा एसटीपी इकाइयों के लिए आवश्यक समर्थन प्रदान करने के लिए अवसंरचनात्मक परिसर व्यवस्था हो सकता हैं ।

   मुख्य विशेषताएँ :  
  1. एकल खिड़की निष्कासन योजना के तहत स्वीकृतियाँ दी जाती हैं ।
  2. एक एसटीपी परियोजना भारत में कहीं भी स्थापित की जा सकती हैं ।
  3. एसटीपी के निदेशक को 100 मिलियन (२.५ मिलियन डॉलर) के निवेश की परियोजना को स्वीकृत करने की शक्ति प्रदान की गई हैं ।
  4. 100% विदेशी इक्विटी अनुज्ञप्त हैं तथा एसटीपी निदेशक को प्रत्यायोजित शक्तियाँ स्वचालित रुट के अंतर्गत स्वीकृत हैं ।
  5. एसटीपी इकाइयों में हार्डवेयर तथा सॉफ्ट्वेयर के सभी आयात पूर्णतः शुल्क मुक्त हैं । हस्तांतरित पूंजीगत वस्तुओं का आयात भी अनुज्ञप्त हैं ।
  6. सरलीकृत निम्नतम निर्यात निष्पादन मानदंड जो कि :
    आयातित वस्तुओं के ३ गुना सीआईएफ मूल्य अथवा ०.२५ मिलियन अमेरिकी डॉलर जो भी उच्चतर हैं तथा निर्यात उपार्जन पर धनत्मक शुद्द विदेशी विनिमय उपार्जन ।
  7. व्यावसायिक प्रशिक्षण प्रयोजनों के लिए कम्प्यूटर प्रणाली का प्रयोग इस शर्त के अधीन स्वीकार्य हैं कि कोई कम्प्यूटर टार्मिनल्स एसटीपीआई परिसर के बाहर से संस्थापित नहीं किया जाए ।
  8. एसटीपी इकाएयाँ २०१० तक निगम आयकर के भुगतान से मुक्त हैं ।
  9. घरेलू प्रशुल्क क्षेत्र (डीटीए) से पूँजीगत वस्तुओं की खरीद केंन्द्रीय बिक्री कर (सीएसटी) की प्रतिपूर्ति तथा उत्पाद शुल्क की उगागी जैसे लाभों की हक़दार हैं ।
  10. विदेशी उद्यमियों द्वारा निवेशित पूँजी जानो-कैसे शुल्क, रॉयल्टी, लाभांश इत्यादि उन पर देय आयकर के भुगतान के बाद मुक्त रुप से देश प्रत्यावर्तन कर सकेंगे ।
  11. घरेलू परियोजनाएँ कोई स्थानीय उगाही प्राप्त नहीं कर पाएगी ।
  12. भुगतान मुक्त रुप से हो सके इसके लिए मुद्रा का पुर्नविभाजन ।